Archives for मेरा गांव, मेरा देश - Page 47

महिला शक्ति को हर दिन सलाम करता एक शहर

आधी आबादी पूरी कमान! सत्येंद्र कुमार यादव उत्तर प्रदेश में एक जिला ऐसा है जहां महिला शक्ति का राज है।राजधानी लखनऊ से महज 65 किलोमीटर दूर उन्नाव जिला इन दिनों…
और पढ़ें »

फंदे से लटकी बेटी… तेरी कहानी कैसे कहें?

संत प्रसाद लखनऊ में सारिका ने खुदकुशी की। इस पर तमाम ख़बरें चल रही हैं। सोशल साइट्स पर भी लोग अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। इंडिया टीवी के पत्रकार प्रियदर्शन…
और पढ़ें »

‘मोटी तोंद’ देखी, ‘फटी बनियान’ भी कभी तो देखो

नवनीत सिकेरा इस फोटो को मैं कई सालों से इंटरनेट पर देख रहा हूँ, पुलिस को लेकर लोग बुरा भला कहते हैं, फिटनेस को लेकर मोटा, गैंडा, ठुल्ला कहते हैं…
और पढ़ें »

साहेब, तुमका पूरा गाँव घूमबे का चाही !

आशीष सागर दीक्षित उत्तरप्रदेश के मुख्य सचिव आलोक रंजन के बांदा दौरे की तस्वीर।उत्तरप्रदेश सरकार के मुख्य सचिव अलोक रंजन बुंदेलखंड के दो दिन के दौरे से वापस अपने पंचम…
और पढ़ें »

सात बरस बाद ‘मुंहबोले’ बाबा से मिलेंगे राहुल ?

सुनीता द्विवेदी क्या आपने कभी बुंदेलखंड में राहुल के गाँव के बारे में सुना है?  राहुल गांधी जो देश की प्रमुख पार्टी कांग्रेस के राजनीतिक वारिस हैं, उनका बुंदेलखंड के…
और पढ़ें »

बागेश्वर के गरुड़ से ओलंपिक तक

नितेंद्र सिंह रावत, धावक बी डी असनोड़ा पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर कलाम ने कहा था कुछ बनना है तो बड़े सपने देखा करो। उनकी बातों ने बहुत सारे बच्चों को प्रेरित…
और पढ़ें »

अब आना इस देश लाडो!

कीर्ति दीक्षित कुछ समय पहले चुनावों के दौरान बीजेपी किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओपी धनखड साहब ने कहा था कि अभी हरियाणा के लडके पैसे देकर बिहार की लडकियों…
और पढ़ें »

‘स्टार्टअप’ के दौर में तालाबंदी? ये वक़्त-‘वक़्त’ की बात है

फोटो- @DIPPGOI राजीव मंडल आप केंद्र सरकार की इस विरोधाभासी संकल्पना पर तालियां पीट सकते हैं लेकिन 'मेक इन इंडिया" और 'स्टार्टअप-स्टैंडअप" नीतियों की टाइमिंग पर ध्यान देना ज़रूरी है। सरकार…
और पढ़ें »

थर्ड जेंडर ने छेड़ी बराबरी के अधिकार की जंग

शिरीष खरे छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में रहने वाली प्रिया (बदला नाम) एक ट्रांस जेंडर हैं। उसके अपने सपने थे, वो बाकी बच्चों की तरह स्कूल जाना चाहती थीं, लेकिन…
और पढ़ें »

छत्तीसगढ़ के ‘होरी’ की व्यथा कथा कौन सुनेगा?

दिवाकर मुक्तिबोध लालसाय पुहूप। आदिवासी किसान। उम्र करीब 33 वर्ष। पिता - शिवप्रसाद पुहूप। स्थायी निवास - प्रेमनगर विकासखंड स्थित ग्राम कोतल (jmसरगुजा संभाग, छत्तीसगढ़)। ऋण - 1 लाख। ऋणदाता…
और पढ़ें »