Archives for मेरा गांव, मेरा देश

मेरा गांव, मेरा देश

2 अक्टूबर से मुजफ्फरपुर में पहली बदलाव पाठशाला

आगामी गांधी जयंती- 2 अक्तूबर- को हम एक नया मिशन शुरू करने जा रहे हैं। समाज के '' उपेक्षित लेकिन अपेक्षित '' वर्ग के बच्चों तक शिक्षा की रोशनी पहुंचाने…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

सोपान जोशी की एक दिलचस्प किताब जल-थल-मल

राकेश कायस्थ हिंसा, हाहाकार और बनारस में लड़कियों की पिटाई की ख़बरों से मन बहुत अशांत था। नज़र टेबल पर रखी एक किताब पर पड़ी, जिसे मैंने दो महीने पहले…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

विद्रोही कवि रामधारी सिंह दिनकर

ब्रह्मानन्द ठाकुर जी हां , विद्रोही कवि रामधारी सिंह दिनकर। हालांकि मनुष्य द्वारा मनुष्य के शोषण पर टिकी इस व्यवस्था के संचालक, आधुनिक राष्ट्रवादियों को दिनकरजी के प्रति मेरा यह…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

देनहार कोहू और है …

सच्चिदानंद जोशी नवरात्रि की शुभकामनाओं के बीच एक किस्सा कुछ अलग सा। हम जानते हैं कि नवरात्रि के पहले अमावस्या आती है। सर्वपितृमोक्ष अमावस्या। इसका बहुत महत्व है। इस दिन…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

धन्यवाद श्रीकांत शर्मा जी ! आपसे शिकायत करना नहीं चाहता था लेकिन…

कोई भी सरकार हो उसकी कोशिश होती है कि जनता के बीच उसके एक्शन का असर दिखे । उसकी योजनाओं का लाभ लोगों को मिले । सरकार की कोशिशों को…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

जो गधे पर नहीं बैठा, वह जन्म्या ही नहीं!

वर्षा मिर्जा इन दिनों गधों की हज़ार सालों की सहनशीलता दाव पर है। सब उन्हीं पर जुमले बोल रहे हैं। गधा पचीसी , धोबी का गधा न घर का ना…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

वैशाखनंदन लिखो या शारदानंदन गालियां तो पड़ेंगी ही

राकेश कायस्थ सोशल मीडिया पर हंगामा ना हो फिर काहे का सोशल मीडिया। अगर शांति चाहते हैं तो कुछ समय के लिए फेसबुक और ट्विटर से दूर हो जाइये। अगर…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

‘बाहुबली नहीं लाखबली बांध कहिये’

नर्मदा किनारे कोटेश्वर घाट डूबने की कगार पर । पुष्यमित्र जब मेन स्ट्रीम मीडिया में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर सरदार सरोवर डैम को तोहफे के तौर पर दिए…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

सवालों की पटरी, ‘बुलेट’ का बुलंद सपना

राधे कृष्ण देश में पहली बुलेट ट्रेन की नींव सही मायने में न्यू इंडिया की आधारशिला रखी गई है । ये कहना है देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

हिंदी दिवस और कोपेनहेगन 

कोपेनहेगन सच्चिदानंद जोशी 7 सितंबर 2017 को कोपेनहेगन में था। थोड़ा तफरी करने के इरादे से विश्व प्रसिद्ध लिटिल मर्मेड की प्रतिमा तक चला गया। वो जगह सचमुच बहुत सुंदर…
और पढ़ें »