Archives for गांव के नायक - Page 8

तुम निडर डरो नहीं, तुम निडर डटो वहीं

झगरी गांव, मध्य प्रदेश अरुण प्रकाश डीएम साहब सुनते नहीं, सचिव महोदय के पास फुरसत नहीं, सीईओ (मुख्य कार्यपालन अधिकारी ) को परवाह नहीं। अब मैं किसके सामने अपने गांव…
और पढ़ें »

नेताजी! किसानों से सीखें बिना ‘ज़हर’ के वोटों की ‘खेती’

 पुष्यमित्र माहौल चुनावी और चर्चा...! फोटो-पुष्यमित्र जीतेगा भाई जीतेगा लालटेन छाप जीतेगा... हमारा नेता कैसा हो अजै प्रताप जैसा हो... फलां छाप पर मोहर लगा कर विजै बनावें... यह चुनाव…
और पढ़ें »

गाता रहे फूलों सा ये दिल…

पुष्पेंद्र पाल सर। कहते हैं कि पीपी सर का है अंदाजे बयां और। प्रशांत दुबे के फेसबुक वॉल से। हमारे आपके आस-पास कई लोग ऐसे होते हैं, जिनकी जिंदादिली एक…
और पढ़ें »

चमोली के चितेरे की विजयगाथा

बी डी असनोड़ा मनीष रावत, धावक बचपन में भाई के लिए दौड़ लगाने की ललक कुछ ऐसी लगी की दौड़ते दौड़ते कब रीयो डी जनेरियो पहुँच गए पता ही नहीं…
और पढ़ें »

संघर्ष के तीन दशक, वही कसक… वही ठसक

फोटो- नर्मदा बचाओ आंदोलन के फेसबुक वॉल से। यह विकास, विस्थापन और पुनर्वास के संघर्ष की ऐसी दास्तान है जो महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और गुजरात की सीमाओं को तोड़ देश…
और पढ़ें »

गंगा का आंगन बुहारती पूर्वोत्तर की बेटियां

सत्येंद्र कुमार ट्विटर पर टेमसुतुला इमसोंग की टीम की तस्वीरें करीब एक साल से देख रहा हूं। ये अपनी टीम के साथ काशी में ठीक उसी तरह से मां गंगा…
और पढ़ें »

रवीन्द्रक परंपरा निभा रहल छथि पोती परंपरा

सत्येंद्र कुमार पूर्णिया की परंपरा। मिथिलांचल-कोसी में दादा जी ‘चलू-चलू बहिना’ गीत गा कर बिहारियों का दिल जीत लिया करते थे तो वहीं पोती ने ‘वन टू चा चा  चा... ईना…
और पढ़ें »

छोटी पहल से बड़ी खुशियां बंटोरते हैं वो

दिल्ली के नंदनगरी का विकास। कंप्यूटर से बदला जीवन। फोटो- 100 पर्सेंट काइंडनेस - पशुपति शर्मा की रिपोर्ट। नेक इरादों के साथ छोटी कोशिशों का भी अपना एक असर होता…
और पढ़ें »

साहब! सोचा तो यही है… गांव बदलेंगे

सत्येंद्र कुमार यादव सातबीं बार में यूपीएससी का किला फतह। साहब बन कर गांव भूल न जाना रमेश। बदलाव पर आईएएस इम्तिहान में कामयाबी हासिल करने वाले युवाओं के साक्षात्कार…
और पढ़ें »

शहादत पे शान, सियासत से शिकवे

शहीद बेटे की याद में पिता ने बनवाया संग्रहालय। फोटो- विपिन कुमार दास विपिन कुमार दास की रिपोर्ट दरभंगा जिला मुख्यालय से 26 किलोमीटर दूर बेनीपुर अनुमंडल और वहां से…
और पढ़ें »