Archives for गांव के नायक - Page 2

गांव के नायक

बूढ़ी अम्मा के साथ केले के पत्तल पर डीएम के दो निवाले

80 साल की बूढ़ी माता। घर में बिल्कुल अकेली। कई दिनों से भूखी। बीमार अवस्था में पड़ी हुई। खाना-पीना और ठीक से उठना-बैठना भी दूभर। हर पल भगवान से उठा…
और पढ़ें »
गांव के नायक

महोबा की जलमुहिम के नायक तारा पाटकर

  कीर्ति दीक्षित विरोध प्रदर्शनों की मानव श्रृंखलाएं हमने बहुत देखीं, पर आज ये तस्वीरें देखिये और इनमें मुस्कुराती मानव श्रृंखलाओं को आत्मसात कीजिए, क्योंकि  समाज उत्कृष्टता सरकार के कालों…
और पढ़ें »
गांव के नायक

ऊर्दू की तालीम हासिल करने की ललक

कुमार नरेंद्र सिंह यह बिहार के जिला भोजपुर के संदेश थाना के सिरकीचक गांव की मस्जिद है, जिसका निर्माण 1798 में हुआ था। औरंगजेब के शासन काल के दौरान यह…
और पढ़ें »
गांव के नायक

12 हज़ार फीट की ऊंचाई पर बसे दांतू गांव की ‘अन्नपूर्णा’

अशोक पांडे के फेसबुक वाल से हिमालय की गोद में बसी एक ऐसी घाटी जहां पहुंचने के लिए आपको करीब 12 हजार फीट की ऊंचाई तक जाना पड़ता है ।…
और पढ़ें »
गांव के नायक

पियुष ने मां तेरे नाम ज्ञान का दीप जलाया है

ब्रह्मानंद ठाकुर बदलाव पाठशाला, पियर, मुजफ्फरपुर पिछले साल 2 अक्टूबर को टीम बदलाव के साथियों की पहल और प्रेरणा से मुजफ्फरपुर जिले के अपने गांव पियर में हमने बदलाव पाठशाला…
और पढ़ें »
गांव के नायक

सीवान में रक्तवीरों की टोली

जयंत कुमार सिन्हा करीब साल भर पहले का एक दिन, मैं तब शहर सीवान में था। डाँ राजेन्द्र प्रसाद, मजहरुल हक, और खुदा बक्श का सीवान। जब शहर के स्कूल…
और पढ़ें »
गांव के नायक

ग्राम प्रधान बनने वक्त बस्ती की बेटी की सोच क्या थी?

रुपम शर्मा, नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान, डुहवा मिश्र, बस्ती उत्तर प्रदेश में ग्राम संसद के चुनावों के बाद टीम बदलाव ने तब चुनी गईं रूपम शर्मा से विस्तार से बातचीत की…
और पढ़ें »
गांव के नायक

जौनपुर में किसानों की जिंदगी बदलने में जुटे सत्यप्रकाश

रवि पाल           शहर की भाग दौड़ भरी जिंदगी में हर किसी को कुछ ना कुछ समझौता करना पड़ता है, किसी को समय के साथ, किसी…
और पढ़ें »
गांव के नायक

विनोद दुआजी, तुस्सी ग्रेट हो!

नदीम एस अख़्तर  कहते हैं जो पेड़ से फल से जितना लदा होता है, वो उतना ही झुका होता है. एक दफा फिर जिंदगी में इसे अपने सामने घटते देखा.…
और पढ़ें »
गांव के नायक

इंटरनेट की दुनिया- ‘कुंदन’ घिसता गया, चमक बढ़ती गई

कुंदन शशिराज एक ऐसे युवा के तौर पर अपने साथियों के बीच जाने जाते हैं, जो अपने जुनून के लिए किसी भी हद तक जा सकता है। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की…
और पढ़ें »