Archives for आईना - Page 2

आईना

एक प्यारे सफर का प्यारा सा अंत

पशुपति शर्मा के फेसबुक वॉल से साभार ''जब आप किसी संस्थान से जुड़ते हैं तो ये पता नहीं होता कि ये सफर कैसा होगा । लेकिन खट्टे-मीठे अनुभवों के साथ…
और पढ़ें »
आईना

जीवन का संघर्ष और ‘डियर जिंदगी’ का फलसफा

दयाशंकर जी के फेसबुक वॉल से साभार कभी-कभी गुस्‍से की छाया, निराशा, ठगे जाने के बोध के बीच हम स्‍वयं को ऐसी चीजों से साबित करने में जुट जाते हैं,…
और पढ़ें »
आईना

मिस टनकपुर से बेबी पीहू तक, एक जिद की जीत

विनोद कापड़ी कहानी और पीहू दोनों मिल चुकी थी। प्रोड्यूसर मिलना बाक़ी था। एक और बेहद मुश्किल काम। मुंबई में अलग-अलग स्टूडियोज़ और प्रोड्यूसर से मिलना-बात करना शुरू किया। जो…
और पढ़ें »
आईना

नन्हीं पीहू से प्यार और विनोद कापड़ी का पागलपन

विनोद कापड़ी फ़िल्म रिलीज़ होने में अब कुछ दिन बाक़ी हैं।अब पीहू फ़िल्म से जुड़ी कुछ कहानियाँ। सबसे पहले कैसे आया आइडिया और पहली बार कब मिली पीहू ?  …
और पढ़ें »
आईना

मीटू के असल मायने क्या हैं ?

कुमार प्रशांत ‘मीटू’ अब महज एक शब्दभर नहीं है, एक नया सहचारी भाव हमारे जमाने में दाखिल हुआ है। इसका मतलब यही नहीं है कि लड़कियां आगे आकर बताएं कि…
और पढ़ें »
आईना

मी टू का रायता

डा. सुधांशु कुमार इधर मी-टू ने पाँच-दस दिनों में जितना रायता फैला कर दस-बीस लोगों की साँस साँसत में डाल दी , उतना रायता तो बेचारे साठ पार 'दिग्गी' तीस…
और पढ़ें »
आईना

जनता बेहाल, कारोबारी मालामाल, वाह रे अच्छे दिन वाली सरकार !

शुरुआत से ही मोदी सरकार को विपक्षी पार्टियों ने सूट-बूट वाली सरकार का तमगा दिया तो ऐसा लग रहा था ये सिर्फ विरोध करने के लिए विपक्षी दलों का शिगूफा…
और पढ़ें »
आईना

तारीख़

तारीख दर तारीख वो मांग रहा था अपने हिस्से की धूप-छांव तारीख दर तारीख  वो मांग रहा था अपने हिस्से का दाना-पानी तारीख दर तारीख वो मांग रहा था अपने हिस्से का…
और पढ़ें »
आईना

विश्व वरिष्ठ नागरिक दिवस पर गाजियाबाद में स्नेहन भरी एक शाम

टीम बदलाव बुजुर्गों के अकेलेपन की त्रासदी कितनी गंभीर होती जा रही है? एक उम्र के बाद क्यों समाज अपने ही बुजुर्गों की उपेक्षा करने लगता है? क्यों परिवार के…
और पढ़ें »
आईना

‘दादी’ के दर्शन और दादी से बिछड़ने का डर

नीलू  अग्रवाल उस लड़की ने हाथ पकड़ रखे हैं अपनी दादी के और मजबूती से पकड़ रखे हैं । मजबूती हाथों में नहीं दिल में है, उसने जैसे ठान ही…
और पढ़ें »