Archives for आईना - Page 2

आईना

शिक्षा के प्रति ‘सुशासन’ की पोल खोलता ‘सिमुलतला’

पुष्यमित्र जमुई गया तो सिमुलतला आवासीय विद्यालय को देखने के मोह से खुद को बचा नहीं सका। जब बिहार में मैट्रिक और इंटरमीडिएट के रिजल्ट आते हैं तो टॉप टेन…
और पढ़ें »
आईना

कैमूर के 108 गांव खोल रहे ‘विकास’ और ‘सुशासन’ की पोल

पुष्यमित्र नल से बूंद-बूंद पानी टपक रहा है। पानी पहले एक प्लास्टिक के गैलन के ढक्कन में गिर कर जमा होता, फिर वहां से एक छोटी सी देगची में जमा…
और पढ़ें »
आईना

महाराष्ट्र का एक ऐसा गांव जहां घर की तरह स्कूल भी हैं स्वच्छता की मिसाल

शिरीष खरे बीजापुर से आगे महाराष्ट्र के पश्चिमी छोर की ओर बढ़ा तो एक अलग ही नजारा दिखा ।  जितनी दूर तक देखो उसी अनुपात में उतनी दूर तक खाली-खाली…
और पढ़ें »
आईना

प्रजातंत्र में लहलहाता राजतंत्र का ‘रक्तबीज’

संजय पंकज सब जानते हैं कि आज की राजनीति नेताओं के लिए समाज-सेवा से ज्यादा सत्ता-सुख की भोग-चाहना है। वे दिन बहुत पीछे छूट गए जब 'भिक्षुक होकर रहते सम्राट,…
और पढ़ें »
आईना

साइलेंसर वाले इंसान

पशुपति शर्मा के फेसबुक वॉल से साभार बिहार के मशहूर चित्रकार राजेंद्र प्रसाद गुप्ता की कृति साइलेंसर वाली बंदूक बड़ी ख़तरनाक होती है  आपके आस-पास  चलते-फिरते शख्स को वो बुलाएंगे…
और पढ़ें »
आईना

शम्स ताहिर खान – लव यू, मोर दैन यू

विकास मिश्रा के फेसबुक वॉल से साभार शम्स ताहिर खान। हम लोगों के शम्स भाई। हर हिंदी भाषी इनके नाम और चेहरे से परिचित होगा। ये बेहतरीन प्रोफेशनल हैं तो…
और पढ़ें »
आईना

‘लक्ष्मी’ के आगे दम तोड़ती ‘सरस्वती’

ब्रह्मनंद ठाकुर रविवार को सरस्वती पूजा थी। स्कूलों में विरानगी और चौक-चराहे पर चहल-पहल । पंडालों में सजावट में व्यस्त युवावर्ग की टोली। कुछ युवक पंडाल के बाहर माथे पर…
और पढ़ें »
आईना

CBI का सीमित दायरा और राज्यों के अधिकार की ABCD

टीम बदलाव पश्चिम बंगाल पुलिस और सीबीआई के बीच घमासान अब सियासी रंग ले चुका है । चिट फंड केस में कोलकाता पुलिस के घर छापा मारने गई सीबीआई टीम…
और पढ़ें »
आईना

अहिंसा धर्म अत्यंत कठिन है- गांधी

पुष्यमित्र के फेसबुक वॉल से साभार आज गांधी जी की पुण्यतिथि है। यह हम सब जानते हैं कि गांधी की हत्या एक सनकी इंसान ने की थी और यह भी…
और पढ़ें »
आईना

शिक्षा के बिना अधूरा है आधी आबादी के सम्मान का सपना

शिरीष खरे आज हम सियासी फायदे के लिए कुछ भी करने के तैयार हैं, लेकिन आधी आबादी को उसका हक वास्तव में मिले, इसको लेकर सरकार या फिर हमारा समाज…
और पढ़ें »