Archives for आईना - Page 19

जाने कहां चले गए गणतंत्र के ऐसे ‘भोले’ नायक?

पुष्यमित्रगणतंत्र दिवस के मौके पर आईये आपको मिलाते हैं बिहार के एक दलित मुख्यमंत्री के परिवार से, जिन्हें तीन बार सीएम बनने का मौका मिला। जी हाँ, यह भोला पासवान…
और पढ़ें »

फेसबुक की दुनिया से मोहब्बत के दो किस्से

फेसबुकिया मित्र राज झा से अजय कुमार की एक आत्मीय मुलाक़ात। फेसबुक पर मोहब्बतें-एक एक मेरे फ़ेसबूक मित्र हैं राज झा। ये दरभंगा (बिहार) के मनीगाछी – फुलपरास के समीप…
और पढ़ें »

अख़बार के 8 पन्नों में मां की ममता का संसार

डॉ प्रकाश हिंदुस्तानी विजय मनोहर तिवारी ने अपनी मां श्रीमती सावित्री तिवारी को अलग तरीके से विदाई दी। उन्होंने अपनी मां की स्मृति में 8 पेज का वर्ल्ड क्लास का…
और पढ़ें »

एसिड से भी खाक नहीं कविता का सौंदर्य!

प्रतिभा ज्योति   लोग अक्सर सोशल साइटस पर अपने आकर्षक और खूबसूरत तस्वीरें पोस्ट किया करते हैं। पोस्ट के बाद उम्मीदों के बादल इसी सोच के आस-पास घुमड़ते रहते हैं…
और पढ़ें »

कोई ‘निर्भया’ न हो, किसी मां के आंखों में आंसू न हों

कीर्ति दीक्षित 24 घंटे नहीं बीते जुवेनाइल एक्ट को पास हुए कि एक और फिर खबर आई दिल्ली के कड़कड़डुमा कोर्ट में जज के सामने फायरिंग में एक सिपाही की…
और पढ़ें »

डीएम साहब, सम्मान का ये ‘निवाला’ वो कभी नहीं भूलेगी

सत्येंद्र कुमार यादव गोपालगंज के डीएम राहुल कुमार ने दो निवालों से बढ़ा दिया एक विधवा महिला का सम्मान। क्या किसी बच्चे के पिता की मौत हो जाए और उसकी…
और पढ़ें »

मरी हुई पत्नी से प्यार

विमल कुमार बिहार के मशहूर चित्रकार राजेंद्र प्रसाद गुप्ता की कृति। मुझे इतने दिनों तक मालूम ही नहीं था मैं अपनी मरी हुई पत्नी से प्यार कर रहा हूं मैं…
और पढ़ें »

ऐ चिड़ैया… तेरे नाम भी एक थाना है!

पुष्यमित्र सोनपुर मेले में बस एक महीने के लिए बनता है, चिड़िया बाज़ार थाना। फोटो-पुष्यमित्र यह बात सबको मालूम है कि सोनपुर मेला में चोरी-छुपके पक्षियों का अवैध व्यापार होता…
और पढ़ें »

विनाशलीलाओं के बाद…

चेन्नई में बाढ़ । फोटो- Shanmugapriyan Sivakumar के फेसबुक वॉल से साभार। एक दिन दिन डूब जाएगा पर दिनचर्या से नहीं और रात दिन के मटमैले विस्तार में लंबे समय…
और पढ़ें »

एक मज़दूर की आत्मा

ये जो सफेद स्वीमिंग पूल है पूल समझने की तुम्हारी भूल है इसे मैंने मेरे ख़ून से रंगा है तब कहीं ये इतना झकाझक है तुम्हारी ज़िंदगी दौड़ रही है…
और पढ़ें »