Archives for आईना - Page 14

पटना के रंगमंच पर ‘मेहमान’ की ‘दस्तक’

दस्तक की प्रस्तुति एक दिन का मेहमान । बदलाव प्रतिनिधि निर्मल वर्मा की कहानियों को मंच पर उतारना आसान नहीं है। मगर पटना के प्रेमचंद रंगशाला में निर्देशक सदानंद पाटिल…
और पढ़ें »

पटना में राष्ट्रीय रंग महोत्सव – फाइनल कॉल की पहली घंटी

पशुपति शर्मा अनु आनंद राष्ट्रीय रंग महोत्सव का मंच तैयार है। 20 सितंबर शाम बजे होगी विवेचना, जबलपुर की प्रस्तुति। रंगकर्मी दोस्तो। पहली घंटी बज गई है। बस तीन दिन…
और पढ़ें »

बेटे की तरह पालेंगे ‘बट’ के पौधों को

बांदा से आशीष सागर दीक्षित बांदा- बट को बेटे की तरह पालने का संकल्प। बुंदेलखंड की ख़तम होती जा रही हरियाली और सरकारी पौधारोपण के साल दर साल किये जा…
और पढ़ें »

कलाम को आख़िरी प्रणाम

जाति, मज़हब, उम्र और युग की दीवारों को पार करके किसी एक शख़्सियत ने पूरे देश का प्यार पाया है तो वो थे डॉ कलाम ! आप हमेशा याद आओगे…
और पढ़ें »

लूटो तब तक, जब तक… बाबा न पुकारें

लताम के के खइते... फोटो- रुपेश कुमार इन दिनों अमरुद के पेड़ झुक गए हैं। हमारे यहाँ इसे लताम भी कहते हैं। खूब फल आये हैं। बच्चों के झुण्ड तो…
और पढ़ें »

ये पाठक कभी सवाल भी पूछेगा पत्रकारजी…

वक़्त- सुबह 5 बजे। सिंहेश्वर, मधेपुरा में चाय की दुकान पर अखबार में रमा एक युवक। फोटो- पशुपति
और पढ़ें »