Author Archives: badalav - Page 97

बकरी तेल लगाती है, कंघी करती है… !

झाबुआ के डुंगरा धन्ना गांव में पहली-पहली ग्राम सभा!- फोटो- राकेश मालवीय शीर्षक को समझने के लिए आपको यह लेख पूरा पढ़ने की ज़हमत उठानी होगी। यह रिपोर्ट जो मैं…
और पढ़ें »

सच में…’हर खेत को पानी’ मिलेगा!

ये मुस्कान उम्मीदों की है। क्या हमारे गांव के खेत को भी पानी मिलेगा?  क्या अब कभी सूखे की मार नहीं पड़ेगी?  क्या पानी के लिए अब ट्यूबवेल पर मार…
और पढ़ें »

समाजवादी सादगी का सियासी पाठ

29 जून 2015, संघर्ष के प्रयोग पुस्तक का विमोचन। सोमवार को नई दिल्ली में एक ऐसी तस्वीर देखने को मिली जो देश की सियासत में गाहे-बगाहे ही मिलती है। देश…
और पढ़ें »

दूसरी हरित क्रांति- कुछ सवाल, कुछ सुझाव

28 जून 2015, हज़ारीबाग में भारतीय कृषि शोध संस्थान के शिलान्यास के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। फोटो स्रोत- पीआईबी पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हजारीबाग के बरही में…
और पढ़ें »

बीमार ‘स्वास्थ्य केंद्रों’ की फिक्र किसे है?

मधेपुरा के खोपैती पंचायत का स्वास्थ्य केंद्र। फोटो-रुपेश कुमार एमएलसी चुनाव के बहाने बिहार में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की सियासत एक बार फिर सुगबुगाने लगी है। इन दिनों एमएलसी के…
और पढ़ें »

ये पाठक कभी सवाल भी पूछेगा पत्रकारजी…

वक़्त- सुबह 5 बजे। सिंहेश्वर, मधेपुरा में चाय की दुकान पर अखबार में रमा एक युवक। फोटो- पशुपति
और पढ़ें »

कोमल मन का पहाड़ सा हौसला

फोटोग्राफर की भूमिका में लेखिका मृदुला शुक्ला पहाड़ पर खेतों से खर पतवार निकाल जमीन में बीज रोपती हैं पहाड़ी औरतें | वे बैल हैं और हल का मूठ पकड़े…
और पढ़ें »

‘ज़ीरो’ बजट का आदर्श गांव

लेखक (पुष्यमित्र) के गांव धमदाहा की एक तस्वीर मोदी सरकार द्वारा सांसद आदर्श ग्राम योजना की शुरुआत किये जाने के बाद से देश में मॉडल विलेज बनाये जाने की बात…
और पढ़ें »

‘बदलाव’ की ओर एक कदम और…

विनय स्मृति कार्यक्रम- वेबसाइट की घोषणा के दौरान मौजूद मधेपुरा के स्थानीय साथी मधेपुरा में विनय स्मृति कार्यक्रम के दौरान 'बदलेगा गांव, बदलेगा देश' के नारे के साथ बदलाव डॉट…
और पढ़ें »