Author Archives: badalav - Page 5

यूपी/उत्तराखंड

‘अर्जुन’ की याद दिलाता है तीरंदाज आर्यमन

बदलाव प्रतिनिधि आर्यमन- चिड़ियां की आंख पर निशाना आर्यमन वर्मा। 13 साल के इस नए तीरंदाज का नाम भले मम्मी-पापा ने आर्यमन रखा हो लेकिन इसकी पहचान ' नन्हे अर्जुन'…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

टी-20 वर्ल्ड कप लेकर लौटना मड़ियाहू की लाडो

बायें से दाहिने- राधा यादव, शिखा पांडे पिछले दिनों महिला टी-20 वर्ल्ड कप का ऐलान हुआ तो यूपी के जौनपुर जिले में खुशी की लहर दौड़ पड़ी, क्योंकि जौनपुर के…
और पढ़ें »
आईना

अशिक्षा और असमानता से ‘आजादी’ हमारा हक- सुभाष चंद्र बोस

ब्रह्मानंद ठाकुर जेएनयू की हालिया घटनाओं  से शिक्षा जगत में उबाल है।  छात्रों के आंदोलन को लेकर पक्ष-विपक्ष में विभिन्न तर्क गढ़े जा रहे हैं। कुछ लोग छात्रानाम् अध्ययन तप:…
और पढ़ें »
सुन हो सरकार

समाजवाद का चोला पहनने वाली दक्षिणपंथी ताकतों से सावधान रहें- सुभाष चंद्र बोस

फाइल चित्र ब्रह्मानंद ठाकुर आज हम एक ऐसे समय में  नेताजी सुभाषचंद्र बोस को याद कर रहे हैं जब पूरा देश गरीबी, बेरोजगारी, भयंकर आर्थिक मंदी , अशिक्षा, महंगाई, आतंकवाद, क्षेत्रीयता,…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

सिविल सेवा की तैयारी के लिए कैसे बनाएं रणनीति ?

IAS आरपी यादव के फेसबुक से साभार अगर आप सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं या फिर करना चाहते हैं तो आप ये पोस्ट जरूर पढ़े, इस पोस्ट…
और पढ़ें »
गांव के रंग

मुजफ्फरपुर में दो दिवसीय ग्राम समागम

टीम बदलाव, मुजफ्फरपुर गांधी चाहते थे कि इस देश के युवा एक निश्चित लक्ष्य लेकर गांवों में जायें और वहां कुछ सृजनात्मक काम करें. ताकि गांव और देश की स्थितियां…
और पढ़ें »
गांव के नायक

सकारात्मक बदलावों को खोजती शिरीष की किताब “उम्मीद की पाठशाला”

बरुण सखाजी ढहते सरकारी स्कूलों में से उम्मीदें खोजती शिरीष खरे की "उम्मीद की पाठशाला" शिक्षा क्षेत्र की अहम किताब है। वे महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, गोवा, मध्यप्रदेश, तमिलनाडु, राजस्थान के स्कूलों…
और पढ़ें »
यूपी/उत्तराखंड

जीवन संवाद- देश को ‘हज़ार-हज़ार दयाशंकर’ चाहिए

पशुपति शर्मा के फेसबुक वॉल से साभार जीवन संवाद। दयाशंकर मिश्र की पुस्तक। 5 जनवरी, 2020 की शाम इस पुस्तक के विमोचन समारोह में शरीक होने के लिए घर से…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

संविधान सभा से जुड़ी कुछ जरूरी बातें समझना जरूरी है

पुष्यमित्र के फेसबुक वॉल से साभार पिछले दिनों ये इच्छा हुई कि देश का संविधान कैसे बना और उसके बनते वक़्त क्या-क्या बहसें हुई, इस पर कुछ पढूं और उसमें…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

मुजफ्फरपुर में 15-16 जनवरी को गांधी और युवा- दो दिवसीय मेल मिलाप

पुष्यमित्र के फेसबुक वॉल से साभार गांधी चाहते थे कि इस देश के युवा एक निश्चित लक्ष्य लेकर गांवों में जायें और वहां कुछ सृजनात्मक काम करें. ताकि गांव और…
और पढ़ें »