Author Archives: badalav - Page 2

आईना

प्रजातंत्र में लहलहाता राजतंत्र का ‘रक्तबीज’

संजय पंकज सब जानते हैं कि आज की राजनीति नेताओं के लिए समाज-सेवा से ज्यादा सत्ता-सुख की भोग-चाहना है। वे दिन बहुत पीछे छूट गए जब 'भिक्षुक होकर रहते सम्राट,…
और पढ़ें »
गांव के रंग

राजतंत्र की विलासता और लोकतंत्र के रखवालों का राजशाही ठाट-बाट

  ब्रह्मानंद ठाकुर राजतंत्र में राजा-महाराजाओं के शान शौकत वाली जिंदगी और उनके विचित्र शौक की अनेक कहानियां इतिहास के पन्नों में बिखरी पडीं हैं। कहने के लिए राजतंत्र के…
और पढ़ें »
गांव के नायक

देश को पूंजीवाद विरोधी किसान आंदोलन की जरूरत-सहजानंद सरस्वती

ब्रह्मानंद ठाकुर आज से 130 साल पहले उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जनपद के देवा गांव में 22 फरवरी , 1889 को महा शिवरात्रि के दिन एक साधारण किसान बेनी राय…
और पढ़ें »
आईना

साइलेंसर वाले इंसान

पशुपति शर्मा के फेसबुक वॉल से साभार बिहार के मशहूर चित्रकार राजेंद्र प्रसाद गुप्ता की कृति साइलेंसर वाली बंदूक बड़ी ख़तरनाक होती है  आपके आस-पास  चलते-फिरते शख्स को वो बुलाएंगे…
और पढ़ें »
चौपाल

एक देशवासी का पीएम मोदी को खुला पत्र

फाइल फोटो आदरणीय मोदीजी, जब आपने अपनी 90 साल की मां को एटीएम की लाइन में खड़ा करवाया था, तभी मैं समझ गया था कि भारत माता को बॉर्डर पर…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

पाक आतंकी कैंप पर भारतीय वायुसेना का सबसे बड़ा हमला

फाइल फोटो पुलवामा हमले के 12 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने बड़ी कार्रवाई की है । आज तड़के वायुसेना के फाइटर जेट ने पाक आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के बालाकोट स्थित…
और पढ़ें »
चौपाल

वर्चुअल दुनिया की दीवार और गुम होती हमारी खुशियां

  दयाशंकर जी के फेसबुक वॉल से साभार हम मनुष्‍य के सामाजिक प्राणी होने के मूल गुण से पहली बार इतनी दूर निकलते दिखाई दे रहे हैं। जहां हर चीज…
और पढ़ें »
आईना

शम्स ताहिर खान – लव यू, मोर दैन यू

विकास मिश्रा के फेसबुक वॉल से साभार शम्स ताहिर खान। हम लोगों के शम्स भाई। हर हिंदी भाषी इनके नाम और चेहरे से परिचित होगा। ये बेहतरीन प्रोफेशनल हैं तो…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

अतीत के झरोखे से वर्तमान का अवलोकन  पार्ट- 2

ब्रह्मानंद ठाकुर लोकतंत्र में जनता के प्रतिनिधियों  के राजसी ठाठ-बाट की चर्चा अक्सर सुनी जाती रही है। ऐसे परिवारों में शादी-विवाह  की तामझाम भी अखबारों की सूर्खियां बनती रही हैं।…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

सामंतवाद के गर्भ से पैदा ‘पूंजीवादी लोकतंत्र’ का जमाना है भाई!

तेजस्वी का पुराना सरकारी बंगला, अब सुशील मोदी बढ़ा रहे हैं शोभा ब्रह्मानंद ठाकुर पिछले दिन अखबार में एक खबर पढ़ने को मिली । खबर थी बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री…
और पढ़ें »