Author Archives: badalav - Page 123

गांव नया, ठांव नया… श्रेया का अंदाज नया

नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान श्रेया प्रियंका यादव यूपी बोर्ड की परीक्षाओं की तरह इस बार पंचायत चुनाव में भी महिला ब्रिगेड ने इतिहास रचा है। घर के बड़े बुजुर्गों ने पंचायत चुनाव…
और पढ़ें »

बस्ती की एक बेटी ने उठा ली है गांव की जिम्मेदारी

रुपम शर्मा, नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान, डुहवा मिश्र, बस्ती देश के सबसे बड़े सूबे यानी उत्तर प्रदेश में ग्राम संसद के लिए हुए आम चुनाव के नतीजे ये बताने के लिए…
और पढ़ें »

विद्रोही, तुम्हारी दया का पात्र नहीं है महानुभावों

संदीप सिंह विद्रोहीजी। इरादा विद्रोही की कविता पर, जीवन पर लिखने का था पर कुछ दिन बाद, वह लिखूंगा। पर ‘अपनी समझ’ से यह तात्कालिक हस्तक्षेप करना पड़ रहा है।…
और पढ़ें »

जेएनयू, तेरे विद्रोही ने ‘ठिकाना’ बदल लिया

अरविंद दास न अकबर, न बीरबल... जेएनयू के विद्रोहीजी विद्रोही जी नहीं रहे। जेएनयू का एक कोना हमेशा-हमेशा के लिए सूना हो गया। जेएनयू में एक लंबा दौर ऐसा रहा…
और पढ़ें »

मिनी संसद में पढ़े-लिखे लोग करेंगे गांव का फ़ैसला

प्रियंका यादव हमारा देश एक लोकतांत्रिक देश है। यहां जनता के सभी अधिकार संविधान से मिलते हैं और उसे पूरा करने का दारोमदार जनप्रतिनिधियों को है। लिहाजा अगर उनके पढ़े…
और पढ़ें »

‘प्रभु’ सुन रहे हैं!

'प्रभु' ने ट्रेन में पहुंचाया दूध सत्येंद्र कुमार यादव शेगांव में डरी हुई लड़की ने मदद मांगी, ‘प्रभु’ ने रक्षा की। इलाहाबाद में लड़की ने सुरक्षा मांगी, ‘प्रभु’ ने मदद…
और पढ़ें »

वजीफन ने हौसलों से जीती हर जंग

विपिन कुमार दास वजीफन खातून। दरभंगा के लालबाग की वजीफन खातून ने नारी शक्ति की एक बड़ी मिसाल पेश की है। वो छपरा के मढ़ौरा (सारण) से रोजी-रोटी की तलाश में दरभंगा पहुंची।…
और पढ़ें »

मरी हुई पत्नी से प्यार

विमल कुमार बिहार के मशहूर चित्रकार राजेंद्र प्रसाद गुप्ता की कृति। मुझे इतने दिनों तक मालूम ही नहीं था मैं अपनी मरी हुई पत्नी से प्यार कर रहा हूं मैं…
और पढ़ें »

ऐ चिड़ैया… तेरे नाम भी एक थाना है!

पुष्यमित्र सोनपुर मेले में बस एक महीने के लिए बनता है, चिड़िया बाज़ार थाना। फोटो-पुष्यमित्र यह बात सबको मालूम है कि सोनपुर मेला में चोरी-छुपके पक्षियों का अवैध व्यापार होता…
और पढ़ें »

‘गुलाबी’ खेतों का रंग ‘लाल’ हो रहा है…

बाँदा के जसपुरा से आशीष सागर दीक्षित गरीबी और आधे पेट रोटी खाकर अपने खेत की सूखी मिटटी को नम करने की जद्दोजहद में एक और अन्नदाता ने अपने ही खेत…
और पढ़ें »