गायब भईल पोखरी, हे हो… केना खायब मखान

दरभंगा की पहचान रहे पोखर और मखाना, दोनों संकट में हैं। फोटो विपिन
दरभंगा की पहचान रहे पोखर और मखाना, दोनों संकट में हैं। फोटो विपिन

मिथिला से विपिन कुमार दास की रिपोर्ट

पग–पग पोखरी और माछ-मखान, इहें छैथ मिथिलाक पहचान। मिथिला अपनी भूमि में उपजे माछ, मखान और पान के स्वाद के जरिए देश-दुनिया के करोड़ों लोगों के दिलों पर राज करता है। ऐसा स्वाद किसी और जगह की मिट्टी के माछ, पान और मखान में कहाँ?

मिथिला की पहचान रहे मखान की खेती पारंपरिक तौर पर तालाबों में हुआ करती थी। आज़ादी से पूर्व और बाद में दशकों तक मखाना किसान तालाबों में फ़सल लगाया करते थे। उस दौरान मिथिला में तालाबों की गिनती करना मुमकिन नहीं था। वक़्त ने जैसे ही करवट बदली, तालाब गायब हो गए। मखाने की जगह वहां ईंटें जुड़ती चली गईं।

किसान अब पुराने दिनों को किस्सों-कहानियों की तरह ही याद करते हैं। मखाना की खेती करने वाले किसान सहनी जी की इच्छा है कि पुराने दिन एक बार फिर से लौटें। इसके लिए वो केंद्र और राज्य सरकार से मिथिलांचल के हर प्रखंड में माछ, मखान और पान के क्रय केंद्र स्थापित करने की अपील करते हैं। किसान सीएम झा भी चाहते हैं सरकार मिथिला पर ध्यान दे तो वो मखाना के साथ साथ मछली पालन को लेकर नए सिरे से विचार करें। उन्हें उम्मीद है कि अगर सरकारी पहल हुई तो क्षेत्र में बेरोजगारी की कम होगी, किसानों का पलायन रुकेगा और पुरानी पहचान कायम होगी।

बहुत फ़ायदेमंद है मखाना

IMG-20150807-WA0003

  • 1. मखाने में 12 प्रतिशत प्रोटीन है जो मसल्स बनाने और फिट रखने में मदद करता है।

    2. मखाना कैल्शियम से भरपूर है इसलिए जोड़ों के दर्द, विशेषकर गठिया के मरीजों के लिए इसका सेवन काफी फायदेमंद है।

    3. मखाने में एंटीऑक्सीडेंट्स हैं जो आपको लंबे समय तक जवान बनाए रखते हैं। यह एंटी एजिंग डाइट है।

    4. मखाने के सेवन से तनाव कम होता है और नींद अच्छी आती है। रात में सोते समय दूध के साथ मखाने का सेवन नींद न आने की समस्या दूर करता है।

    5. मखाने का सेवन किडनी और दिल की सेहत के लिए फायदेमंद है।

    6. मखाना बेहद सुपाच्य है। तुरंत ताकत देने वाली खुराक के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।

     

 

स्थापना के एक दशक बाद भी ये केंद्र अपने मकसद में कामयाब न हो सका। फोटो विपिन
स्थापना के एक दशक बाद भी ये केंद्र अपने मकसद में कामयाब न हो सका। फोटो विपिन

मिथिलांचल के दरभंगा में साल 2004 में मखाना अनुसंधान केंद्र स्थापित किया गया, लेकिन इसके जो नतीजे आने चाहिए थे, वो नहीं दिखते। अगर मखाना अनुसंधान केंद्र का प्रचार-प्रसार किया जाता। मखाना किसानों को प्रोत्साहित किया जाता, उनके साथ बेहतर तालमेल होता तो 10 सालों में तस्वीर बदल सकती थी।


 

bipin kr das

विपिन कुमार दास, पिछले एक दशक से ज्यादा वक्त से पत्रकारिता में सक्रिय हैं। दरभंगा के वासी बिपिन गांव की हर छोटी-बड़ी ख़बर पर नज़र रखते हैं। बिपिन महज पत्रकारिता तक सीमित नहीं है। वो समाज से जुड़े बदलाव की पूरी प्रकिया के गवाह ही नहीं, साझीदार बनने में यकीन रखते हैं। आप उनसे 09431415324 पर संपर्क कर सकते हैं।


मिथिला के एक शहीद के पिता का जज़्बा देखना हो तो क्लिक करें

11 thoughts on “गायब भईल पोखरी, हे हो… केना खायब मखान

  1. Prem Piyush -Makhana is highly priced food items even outside Bihar, please promote it and give sufficient support for processing, packaging and export

  2. After looking over a few of the blog articles on your website, I really like
    your technique of blogging. I saved as a favorite it to my bookmark webpage list and will be
    checking back soon. Take a look at my website as well and let me
    know what you think.

  3. Cool blog! Can be your theme customized or do you
    download it from somewhere? A design like yours by incorporating simple adjustements would really make my blog stand out.
    Please inform me the place you got your design. With thanks

  4. You made some excellent points there. I checked on the internet to learn more
    in regards to the issue and located most people may go along
    with your thoughts about this website.

  5. I love the valuable info you provide inside your articles.
    I’ll bookmark your weblog and look again here frequently.
    I am just quite sure I’ll learn a great deal of new stuff here!

    Best of luck for the following!

  6. We have learn several excellent stuff here. Definitely price bookmarking for revisiting.
    I surprise how a good deal effort you place to make one of these excellent informative web site.

  7. I am now not sure the location you will be having your info, however great topic.
    I must spend a little while studying more or figuring out more.
    Thanks for fantastic information I had been seeking this info for my mission.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *